3
संकट के समय आत्मविश्वास
दाऊद का भजन। जब वह अपने पुत्र अबशालोम के सामने से भागा जाता था
 
हे यहोवा मेरे सतानेवाले कितने बढ़ गए हैं!
वे जो मेरे विरुद्ध उठते हैं बहुत हैं।
बहुत से मेरे विषय में कहते हैं,
कि उसका बचाव परमेश्‍वर की ओर से नहीं हो सकता*। (सेला)
परन्तु हे यहोवा, तू तो मेरे चारों ओर मेरी ढाल है,
तू मेरी महिमा और मेरे मस्तक का ऊँचा करनेवाला है*।
मैं ऊँचे शब्द से यहोवा को पुकारता हूँ,
और वह अपने पवित्र पर्वत पर से मुझे उत्तर देता है। (सेला)
मैं लेटकर सो गया;
फिर जाग उठा, क्योंकि यहोवा मुझे संभालता है।
मैं उस भीड़ से नहीं डरता,
जो मेरे विरुद्ध चारों ओर पाँति बाँधे खड़े हैं।
उठ, हे यहोवा! हे मेरे परमेश्‍वर मुझे बचा ले!
क्योंकि तूने मेरे सब शत्रुओं के जबड़ों पर मारा है।
और तूने दुष्टों के दाँत तोड़ डाले हैं।
उद्धार यहोवा ही की ओर से होता है*;
हे यहोवा तेरी आशीष तेरी प्रजा पर हो।