130
करुणामय परमेश्‍वर
यात्रा का गीत
 
हे यहोवा, मैंने गहरे स्थानों में से तुझको पुकारा है!
हे प्रभु, मेरी सुन!
तेरे कान मेरे गिड़गिड़ाने की ओर ध्यान से लगे रहें!
हे यहोवा, यदि तू अधर्म के कामों का लेखा ले,
तो हे प्रभु कौन खड़ा रह सकेगा?
परन्तु तू क्षमा करनेवाला है,
जिससे तेरा भय माना जाए।
मैं यहोवा की बाट जोहता हूँ, मैं जी से उसकी बाट जोहता हूँ,
और मेरी आशा उसके वचन पर है;
पहरूए जितना भोर को चाहते हैं*, हाँ,
पहरूए जितना भोर को चाहते हैं,
उससे भी अधिक मैं यहोवा को अपने प्राणों से चाहता हूँ।
इस्राएल, यहोवा पर आशा लगाए रहे!
क्योंकि यहोवा करुणा करनेवाला
और पूरा छुटकारा देनेवाला है।
इस्राएल को उसके सारे अधर्म के कामों से वही छुटकारा देगा। (भज. 131:3)